June 14, 2024

राज्य सरकार का एक साल पूरा होने पर सरकार की उपलब्धियों पर आधारित ’’एक साल, नई मिसाल’’ कार्यक्रम के तहत बहुउद्देशीय शिविर एवं चिकित्सा शिविर का आयोजन

पन्तनगर

राज्य सरकार का एक साल पूरा होने पर सरकार की उपलब्धियों पर आधारित ’’एक साल, नई मिसाल’’ कार्यक्रम के तहत ’’जनसेवा की थीम’’ पर आधारित बहुउद्देशीय शिविर एवं चिकित्सा शिविर का आयोजन गांधी हॉल पन्तनगर में किया गया। जिसका उद्घाटन कृषि एवं कृषक कल्याण, सैनिक कल्याण एवं ग्राम्य विकास तथा जनपद प्रभारी मंत्री गणेश जोशी ने दीप जलाकर किया। इस अवसर पर ’’एक साल-नई मिसाल’’ विकास पुस्तिका का विमोचन किया गया। काय्रक्रम में खुशी, कीर्तिका, लवली को महालक्ष्मी किट वितरित की, आरूषि, अनन्या, रोशनी को घर की पहचान लाडली के नाम की पट्टिकाएं दी। चार प्रगतिशील किसानों मनवीर सिंह, गुरमुख सिंह, राजविन्दर सिंह, दीपक कुमार को कृषक भूषण सम्मान से सम्मानित किया गया तथा 27 किसानों को ब्लॉक स्तरीय सम्मान से सम्मानित किया गया।

इस दौरान स्वयं सहायता समहों, पर्यावरण मित्रों, किसानो, विद्यार्थियों, उद्यमियों द्वारा पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर आभार व्यक्त किया गया। जोशी ने जन समूह को सम्बोधित करते हुए कहा कि उत्तराखण्ड सैनिक बाहुल्य क्षेत्र है, जवान देश की सेवा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 07 सात साल मुझे भी देश की सेवा करने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि देश की सेना का 17.5 प्रतिशत की पूर्ति छोटा सा राज्य उत्तराखण्ड करता है।देश की रक्षा करने वाला हर 5वां सैनिक उत्तराखण्ड से होता है। उन्होंने विभिन्न युद्धों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि कोई भी युद्ध या हमला हो उसका सामना करते हुए हमारा जवान शहीद होता है। जब कोई जवान शहीद होता है तो कुछ समय तक के लिए याद किया जाता है और बाद में भूल जाते हैं, लेकिन सरकार ने फैसला किया है कि देश की सीमा पर रक्षा करने वाला चाहे सैना का हो या पैरामिलिट्री फॉर्स का हो, जो जवान शहीद होगा, उसके परिवार के एक व्यक्ति को योग्यता के अनुसार नोकरी देने का काम हमारी सरकार कर रही है। किसी शहीद सैनिक को वापस नहीं ला सकते लेकिन उस शहीद का सम्मान करना, उसकी वीरता का बखान करना यह हर देशवासी का कत्त्वर्य है। उन्होंने कहा कि शहीदों के सम्मान में विशाल सैन्य धाम देहरादून में बनाने जा रहे हैं, पूरे प्रदेश के अन्दर 1734 शहीद परिवारों के घर जाकर उनके घर-आंगन की मिट्टी को लेकर आए, उस मिट्टी से सैन्य धाम का भूमि पूजन किया, रक्षा मंत्री द्वारा भी भूमि पूजन किया गया। शहीदो के चित्र, म्यूजियम, वीरता की पिक्चर दिखाई जायेगी, देश के पहले सीडीएस विपिन रावत के नाम होगा। भारतीय सेना में दो व्यक्तियों की पूजा होती है- बाबा हरभजन सिंह, बाबा जसवन्त सिंह की, उनके मन्दिर सैन्य धाम में होंगे। जिस दिन सैन्य धाम बनकर तैयार होगा ये पांचवा धाम होगा, दूर-दूर से व्यक्ति देखने आएंगे। सरकार ने विभिन्न पदकों की पुरस्कार राशि को कई गुना बढ़ा दिया है।
ऊधम सिंह नगर में हो रहे विकास कार्यों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि गदरपुर बाईपास का निर्माण 170 करोड़ की लागत से पूर्ण हो चुका है, पन्तनगर में ग्रीन इन्टरनेशनल एयरपोर्ट निर्माण किया जायेगा। खटीमा बाईपास का निर्माण 94 करोड की लागत से पूर्ण हो चुका है। रूद्रपुर में राजकीय मेडिकल कॉलेज की स्थापना का कार्य शुरू, गूलरभोज जलाशय को साहसिक पर्यटक स्थल के रूप में विकसित, किच्छा में 500 करोड़ की लागत से 100 एकड़ में एम्स सेटेलाईट सेन्टर स्वीकृत, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जनपद में 2,370 आवासों का निर्माण कार्य पूर्ण एवं 1,360 नये आवासों का निर्माण कार्य प्रारम्भ कराया जा रहा है, जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अन्तर्गत स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति हेतु रू0 1,000 करोड़ की लागत से 324 कार्य योजना स्वीकृत, 12 पेयजल योजनाओं का कार्य पूर्ण, 0274 पेयजल योजनाओं पर कार्य गतिमान है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जनपद के लाभार्थियों को वितरित की जा रही पेंशन एवं भरण पोषण का विवरण के अन्तर्गत 33000 लाभार्थियों को विधवा पेंशन, 580 लाभार्थियों को परित्यक्ता पेंशन, 52872 लाभार्थियों को वृद्वावस्था पेंशन, 2205 लाभार्थियों को किसान पेंशन, 9611 लाभार्थियों को विकलांग भरण पोषण अनुदान दिया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा समान नागरिक संहिता कमेटी का गठन किया गया है और समान नागरिक संहिता लागू करने वाला उत्तराखण्ड देश का पहला राज्य होगा। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति बहनों के साथ छल न कर सके,इसके लिए सख्त सख्त धर्मानान्तरण कानून लागू, महिलाओं के आत्मनिर्भर एवं उन्नयन हेतु भर्तियों में महिलाओं को क्षेतिज आरक्षण लागू किया गया है। उन्होंने कहा कि परीक्षाओं में नकल रोकने हेतु देश का सबसे सख्त नकल विरोधी कानून बनाकर लागू किया गया है। उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए 3 सिलेंडर निःशुल्क रिफिल की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से राज्य में 20 हजार से अधिक लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ है। नंदा गौरा योजना के तहत रू0 323.22 करोड़ की लागत से 80 हजार से अधिक बालिकाएं लाभान्वित किया गया है। फार्म मशीनरी बैंक योजना के अन्तर्गत किसानों को कृषि उपकरणों की खरीद हेतु – 80 फीसदी तक सब्सिडी की व्यवस्था की गई है।
उन्होंने कहा कि आजादी के अमृतकाल में यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व में विश्वपटल पर 21वीं सदी के आत्मनिर्भर भारत का उदय हो रहा है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि विकास के ये फल समावेशी हो और अंतिम छोर तक पहुंचे, सभी क्षेत्रों और नागरिकों तक पहुंचे, विशेषकर हमारे युवाओं, महिलाओं, किसानों, और उद्यमियों तक पहुंचे।
उन्होंने कहा कि वर्ष 2023 को मिलेट्स वर्ष घोषित किया गया है। उत्तराखण्ड पहला राज्य है जिसने मिलेट्स के क्षेत्र में मडुवे का एमएसपी घोषित किया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2025 में मिलेट्स, हॉर्टिकल्चर के क्षेत्र में उत्पादन को दो गुना करेंगे। सरकार ने संकल्प लिया है कि जब राज्य 25 साल का होगा तब तक हम 1.25 लाख महिलाओं को लखपति दीदी बनायेंगे। किसान को उत्पाद का मडवे का दाम मिले, इसके लिए बिचौलियों को समाप्त कर समूहों की बहने किसानों के घर जाकर मडुवा खरीदेंगी, बहनो को प्रति किलो 1.5 रूपये इंसेटिव देंगे, जिसके दो लाभ होंगे, जिसमें पहला कि किसान को उत्पाद का दाम उसके घर पर ही प्राप्त होगा दूसरा महिला शक्तिकरण का काम भी पूरा होगा। सरकार जनता से सीधा संवाद कर रही है। आपदा को कोई नही रोक सकता, आपदा आने के बाद सरकार की क्या भूमिका है और सरकार क्या कार्य कर रही है, इस दिशा में आपने देखा होगा कि जहां कही भी आपदा आई होगी, सीएम को उस क्षेत्र में अवश्य देखा होगा, सरकार ने आपदा पीड़ितो का दुःख दर्द बांटने का काम किया। जोशीमण्ठ आपदा प्रभावितों के पुर्नवास के लिए एक हजार करोड़ की व्यवस्था की गई है। पीएम का विशेष आशीर्वाद प्रदेश को मिला है। उन्होंने कहा कि सड़के चौड़ी बन रही है, सफाई हो रही है। देश में जी 20 आयोजन का श्रेय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को जाता है, जिसके दो कार्यक्रम उत्तराखण्ड में भी हो रहे हैं।
उन्होंने कहा कि देश तथा प्रदेश की सरकार जन भावनाओं के अनुरूप कार्य कर रही है। बेटियों को विभिन्न योजनाओं के माध्यम से आगे बढ़ाने का काम किया जा रहा है। प्रदेश में डॉक्टर्स की कमी को देखते हुए 2600 डॉक्टर्स भर्ती करने का काम सीएम ने किया। नव वर्ष एवं नवरात्र के पहले दिन 824 एएनएम बहनों को नियुक्ति पत्र देने का काम सीएम ने किया। हमारा यह मानना है कि मातृ शक्ति मजबूत होगी तो राष्ट्र मजबूत होगा क्योकि बच्चे की सबसे बड़ी गुरू मां होती है। आठ सालों में समूह महिलाए सक्षम हुई है। उन्होंने कहा कि सीएम धामी के नेतृत्व में एक से बढ़कर एक जनहित में कार्य लिए जा रहे हैं। गरीबों के सही ईलाज मिले, सभी के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए 05 लाख रूपये तक के फ्री ईलाज की व्यवस्था की है, 6.50 लाख से अधिक व्यक्ति इस योजना का लाभ उठा चुके हैं, लगभग 492 करोड़ रूपया इस कार्य हेतु दिया गया है। बहनो-बेटियों के लिए शौचालय की व्यवस्था का कार्य माननीय प्रधानमंत्री जी ने 11 करोड़ से अधिक शौचालय बनाने का काम किया। गरीब परिवार की बहने कभी सौच भी नहीं सकती थी कि गैस पर खाना बनायेंगी, पीएम मोदी ने उज्ज्वला गैस कनैक्शन के माध्यम से 11 करोड़ से अधिक उज्जवला गैस कनेक्शन देने का काम किया है। खेत में काम करते समय दुर्घटना एवं सांप काट लेता था, उसका मुआवजा बढ़ाने का काम किया है। समूह की बहनों को 5 लाख तक का लोन देने का काम सरकार कर रही हैं। समाज का कोई भी वर्ग ऐंसा नहीं है जिसे सरकार ने न छुआ हो। आंगनबाड़ी वर्करों का मानदेय बढ़ाने, पर्यावरण मित्रों, स्वास्थ्य कर्मियों का मानदेय बढ़ाने का भी कार्य भी हमारी सरकार द्वारा किया गया है।
उन्होंने कहा कि वर्ष 2023 को अन्तराष्ट्रीय मिलेट्स वर्ष घोषित कराने का श्रेय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को जाता है, जब यूएन में  मोदी ने प्रस्ताव रखा तो 72 देशों ने इसका समर्थन किया और आज अन्तराष्ट्रीय मिलेट्स वर्ष मनाया जा रहा है। हमारी सरकार ने स्टेट मिलेट मिशन की घोषणा की है। एप्पल मिशन, कीव उत्पादन सहित विभिन्न योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 2025 में जब राज्य 25 वर्ष का होगा तब तक एप्पल, होर्टिकल्चर के क्षेत्र में उत्पादन को दो गुना करेंगे। उन्होंने कहा कि रूफ गार्डन विकसित करने हेतु 25 हजार तक की धनराशि की व्यवस्था की जा रही है, शीघ्र ही योजना का शुभारंभ सरकार करने जा रही है। जल जीवन मिशन के माध्यम से सरकार पेयजल पहुँचाने का काम कर रही है। समाज के हर वर्ग की चिन्ता सरकार कर रही है और पलायन को रोकने की दिशा में सरकार निरन्तर कार्य कर रही है।
इस दौरान स्वास्थ्य, उद्योग, जिला पूर्ति, आपदा प्रबन्धन, श्रम एवं सेवायोजना, पशुपालन, मत्स्य, डेयरी, पर्यटन, विद्युत, उरेडा, अल्पसंख्यक कल्याण, महिला कल्याण एवं बाल विकास, समाज कल्याण, पंचायतीराज, उद्यान, कृषि, सीएसआर द्वारा स्टाल लगाकर योजनाओं की जानकारी देने के साथ ही पात्र व्यक्तियों को लाभांवित किया गया।
कार्यक्रम में मेयर रामपाल सिंह, विधायक शिव अरोरा, अरविन्द पाण्डे ने भी अपने-अपने विचार रखे। कार्यक्रम में जिलाधिकारी युगल किशोर पन्त, मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा, उप जिलाधिकारी प्रत्यूष सिंह, परियोजना निदेशक हिमांशु जोशी, जिला विकास अधिकारी तारा ह्यांकी,डीपीआरओ रमेश चन्द्र त्रिपाठी, डीपीओ उदय प्रताप सिंह, जिलाध्यक्ष भाजपा गुंजन सुखीजा, पूर्व जिलाध्यक्ष विवेक सक्सैना सहित अमित नारंग, गुरविन्दर सिंह चण्डोक सहित क्षेत्रीय जनता उपस्थित थी।