June 18, 2024

डबल मर्डर मिस्ट्री का खुलासा,भाई ने ही जीजा और बहन को उतारा था मौत के घाट

देहरादून

क्लेमेनटाउन सी-13 स्थित एक घर में मृत मिले पति-पत्नी की मौत का पर्दाफाश हो गया है। दोनों ने आत्महत्या नहीं की बल्कि उनकी हत्या की गई है। हत्या की घटना को अंजाम मृतक महिला के भाई ने दिया था। क्लेमेनटाउन थाना पुलिस ने आरोपित शहवाज निवासी ग्राम चहलोली, थाना नागल, जिला सहारनपुर, यूपी को गिरफ्तार कर लिया है।

बहन की लव मैरिज से गुस्‍से में था काशिफ

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुंवर ने बताया कि मृतक काशिफ और आरोपित शहवाज दोनों एक ही गांव से हैं और पूर्व में आपस में दोस्त थे। कुछ वर्ष पहले शहवाज ने अपनी मौसी की लड़की को भगा दिया था ऐसे में वह और उसका बड़ा भाई शादाब जेल चले गए। उनकी अनुपस्थिति में काशिफ उनके घर आने जाने लगा और उसकी बहन अनम को अपने प्रेमजाल में फंसा दिया।

अनम के नाम पर तीन बीघा तीन बीघा पुश्तैनी जमीन थी जो कि काशिफ ने कोर्ट मैरिज के बाद गिरवी रख दी। सब कुछ हाथ से जाते देख आरोपित शहवाज ने अपने जीजा को ठिकाने लगाने की योजना बनाई, और मौके की तलाश करने लगा।

पहले भी रची हत्‍या की साजिश

सात जून को काशिफ ने शहवाज को उत्तरकाशी में अपनी हाइड्रा मशीन पलटने तथा उसके साथ उत्तरकशी चलने की बात कहीं जिस पर आराेपित बीते सात जून को अपनी मोटरसाइकिल से सहारनपुर से देहरादून आया और देहरादून से स्विफ्ट डिजायर से दोनों उत्तरकाशी के लिए निकले। उत्तरकाशी पहुंचने पर काशिफ को अनम ने फोन कर बताया कि उसे दर्द उठ रहा है, क्योंकि उसकी डिलीवरी होनी थी।

फिर काशिफ ने मोहल्ले की आशा को फोन कर उसके साथ अनम को अस्पताल भेज दिया और दोनों उत्तरकाशी से वापस देहरादून आ गए। उस दिन भी आरोपित काशिफ को मारने की फिराक में था लेकिन उस दिन अनम को पता था कि काशिफ व शहवाज दोनों साथ हैं।

मामा बनने से था दुखी

देहरादून से आरोपित अपने गांव चला गया। गांव के लोग शहवाज को मामा बनने की तरह-तरह की बातें बना रहे थे जिससे वह और अधिक गुस्से में आ गया। नौ जून को काशिफ ने शहवाज को फोन कर 10 जून को उत्तरकाशी चलने की बात कहीं जिस पर शहवाज ने उसे इस बार मारने की ठान ली।

10 जून को सुबह साढ़े आठ शहवाज गणेशपुर मोहंड साईड पर अपने दोस्त के कमरे में चला गया जहां उसने अपना फोन बंद कर दिया और लगभग साढ़े नौ बजे वह काशिफ के कमरे पर पहुंचा।

रात्री के समय मौका देखकर आरोपित किचन में गया, और वहां से एक चाकू लाकर जमीन पर सोए कासिफ की गर्दन पर उससे वार कर दिया। इसी बीच अनम उठ गई और चिल्लाने लगी, जिस पर आरोपित ने उसका मुंह दबाकर दूसरे हाथ से उसका गला दबा दिया। आरोपित ने नवजात को दोनों के बीच रख दिया और खुद ताला लगाकर फरार हो गया।