June 14, 2024

चारधाम यात्रा समेत हैली सेवा के नाम पर पूरे भारत में ठगी करने वाले गिरोह का STF ने किया पर्दाफाश, चार धाम हेली सेवा से जुड़ी 35 फर्जी वेबसाइटों को भी किया ब्लॉक

देहरादून

वर्तमान समय में उत्तराखण्ड राज्य में चारधाम यात्रा प्रचलित है, जिस कारण विभिन्न राज्यों से श्रधालुओं द्वारा श्री केदानाथ धाम दर्शन हेतु हैलीकॉप्टर सेवा प्राप्त करने हेतु ऑनलाईन टिकट बुक करवाये जा रहे है। साईबर अपराधियों द्वारा भी साईबर अपराध करने हेतु समय के साथ-साथ धोखाधड़ी करने हेतु नये-नये तरीके अपनायें जाते रहे हैं व चारधाम यात्रा हेतु हैली सेवा ऑनलाईन टिकट बुकिंग के नाम पर भी देश के विभिन्न राज्यों से हैली सेवा टिकट ऑनलाईन बुक करवाने वालों के साथ भी साईबर ठगी की जा रही है।

मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड के निर्देशो के क्रम में प्रदेश के निवासियों को साइबर अपराधियों द्वारा जनता से ठगी करने वालो पर सख्त कार्यवाही कर पुलिस महानिदेशक द्वारा एसटीएफ व साइबर पुलिस को प्रभावी कार्यवाही हेतु दिशा निर्देश दिये गये है ।* उच्च अधिकारियों से प्राप्त दिशा निर्देशों के अनुपालन हेतु साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन की ईमेल पर उत्तराखण्ड राज्य के साथ-साथ विभिन्न राज्यों से पीड़ितों द्वारा हैली सेवा बुकिंग के नाम पर उनके साथ हुयी धोखाधड़ी के संबंध में ई-मेल प्राप्त हुयी हैं, जिस के आधार पर एसटीएफ उत्तराखण्ड द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून पर अभियोग पंजीकृत कर विवेचना प्रारम्भ की गई।  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ के निर्देशन में अभियोग का सफल निस्तारण हेतु पुलिस टीम गठित की गई जिस पर पुलिस टीम द्वारा समय-समय पर श्रीमान अपर पुलिस अधीक्षक एसटीएफ* से सफल अनावरण हेतु प्राप्त दिशानिर्देशों का पालन करते हुए पुलिस टीम द्वारा अथक मेहनत एवं प्रयासों से साक्ष्य एकत्रित करते हुये इस गिरोह का पर्दाफाश किया गया है व विवेचना के दौरान हैली सेवा के नाम पर देश भर में धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को गैर राज्य बिहार के जिला शेखपुरा से गिरफ्तार किया गया है, जिनके द्वारा विभिन्न फर्जी वेबसाईट्स बनाकर, मोबाईल नम्बरों, मोबाईल हैण्डसैटों व बैंक खातों का प्रयोग कर स्वयं को *हिमालयन हैली सर्विस का कर्मचारी दर्शाकर, पीड़ितों के व्हट्सएप पर सम्पर्क स्थापित कर हिमालयन हैली सर्विस के कर्मचारी बनकर फर्जी आई0डी0 भेजकर उत्तराखण्ड राज्य के पीड़ित प्रकाश चन्द्र पुरोहित के साथ रू0 61,500/- की ठगी, राजस्थान के जयपुर निवासी पीड़ित जस्टिन जॉसेफ के साथ रू0 33,000/- की ठगी, तमिल नाडू निवासी श्री डे0के0एस0 मूर्ती के साथ रू0 48,947/- की ठगी, गुजरात निवासी अशोक कुमार के साथ रू0 30,000/- की ठगी के अलावा देश के विभिन्न राज्यों जिनमें राजस्थान, तेलंगाना, तमिलनाडू, उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड आदि के पीड़ित शामिल हैं के साथ हैली सेवा के नाम पर लोखों की ठगी की गई है*, गिरोह के अन्य सदस्यों एवं सरगना की तलाश जारी है।

अभियुक्तगण द्वारा पूरे भारत में हैली सेवा के नाम पर अपराध करने के लिए अलग-अलग मोबाईल फोन, सिमकार्डो व बैंक खातों का इस्तेमाल किया गया। अभियुक्तगण से बरामद उपकरणों का प्रयोग कर पूरे भारत में कई पीड़ितों से हैली सेवा टिकट बुकिंग के नाम पर पैसा लेकर धोखाधड़ी की गई है। अभियुक्तगणों ने प्रतिरूपण, फिशिंग, फर्जी हैली सेवा कम्पनियों के अधिकारी बनकर और पहचान की चोरी के जरिए पूरे भारत में लोगों को ठगा है।

*अपराध का तरीकाः-* अभियुक्तगण द्वारा अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर फर्जी आई0डी0 पर मोबाईल हैण्डसेट व सिमकार्ड प्राप्त कर हैली सेवा कम्पनियों की फर्जी आई0डी0 बनाकर हैली सेवा कम्पनियों के नाम से वेबसाईट्स बनावा कर हैली सेवा टिकट की ऑनलाईन बुकिंग हेतु अपने मोबाईल नम्बर को व्हट्सएप्प एपीआई के जरिये उस वेबसाईट से कनेक्ट कर देते है। पीड़ितों द्वारा हैली सेवा टिकट की ऑनलाईन बुकिंग हेतु उक्त वेबसाईट पर विजिट करने पर व क्लिक करने पर अभियुक्तगण के व्हट्सएप्प से सम्पर्क हो जाता है, जिस पर अभियुक्तगण द्वारा पीड़ितों को हैली सेवा कम्पनियों की फर्जी आई0डी0 भेजकर टिकट बुकिंग हेतु विश्वास दिलाकर अभियुक्तगण द्वारा प्रयोग किये जा रहें फर्जी बैंक खातों में पैसा डलवा कर धोखाधड़ी की जाती है। अभियुक्तगण द्वारा विभिन्न मोबाईल हैण्डसेट, सिम कार्ड व फर्जी बैंक खातों का प्रयोग किया जाता है। कुछ पिडितों से एक मोबाईल फोन, सिम कार्ड व बैंक खाते का प्रयोग कर धोखाधड़ी करने के बाद इनके द्वारा नये सिम, मोबाईल हैण्डसैट व बैंक खातों का प्रयोग किया जाता है।

*विवेचना के दौरान प्रकाश में आयीं 35 ऑनलाईन हैली सेवा टिकट बुकिंग करने हेतु साईबर ठगों द्वारा प्रयोग की जा रहीं फर्जी वेबसाईट्स को बंद करवाया गया* है, जिन्में निम्न शामिल हैं-
1- https://www.helicopterticketbooking.in/
2- https://radheheliservices.online
3- https://kedarnathticketbooking.co.in/
4- https://heliyatrairtc.co.in/
5- https://kedarnathtravel.in/
6- https://instanthelibooking.in
7- https://kedarnathticketbooking.in/
8- https://kedarnathheliticketbooking.in/
9- https://helicopterticketbooking.co.in/
10- https://indiavisittravels.in/
11- https://tourpackage.info
12- https://heliticketbooking.online
13- http://vaisnoheliservice.com/
14- https://helichardham.in/
15- https://irtcyatraheli.in/
16- http://katraheliservice.com/
17- https://helipadticket.in
18- https://www.aonehelicopters.site/
19- https://vaishanotravel.com/
20- http://vaishnotourist.com/
21- https://kedarnathhelijounery.in/
22- https://wavetravels.in/
23- https://takeuptrip.com
24- https://www.onlinehelicopterticketbooking.online
25- https://kedarnath-dham.heliindia.in/
26- https://www.chardhamhelicoptertours.in
27- https://maavaishnodevitourstravel.in
28- https://kedarnathheliticket.in/
29- https://chardhamtravelticket.in/
30- https://onlinehelicopterticketbooking.com/
31- https://flytopeak.com
32- https://flighter.online
33- https://katrahillsservice.live/
34- http://kedarnathhelipadticket.in/
35- https://tourchardham.in/

*प्रकाश में आये अभियुक्तगण-*
1. सन्नी राज पुत्र उमेश दास निवासी ग्राम मोहब्बतपुर, पोस्ट पन्हेसा, थाना शेखोपुर सराय, जनपद शेखपुरा, बिहार।
2. बॉबी रविदास पुत्र उमेश दास निवासी ग्राम मोहब्बतपुर, पोस्ट पन्हेसा, थाना शेखोपुर सराय, जनपद शेखपुरा, बिहार।
अभियुक्तगण से बरामद उपकरण-

1. INFINIX कम्पनी का एक एन्ड्रोईड मोबाईल फोन।
2. SAMSUNG SM कम्पनी का की-पैड मोबाईल फोन।
3. SAMSUNG GT- 1200 Y कम्पनी का की-पैड मोबाईल फोन।
4. SAMSUNG GT 1215 कम्पनी का की-पैड मोबाईल फोन।
5. SPICE 301 कम्पनी का की-पैड मोबाईल फोन।
6. KECHAODA कम्पनी का की-पैड मोबाईल फोन।
7. 04 SIM CARDS विभिन्न कम्पनियों के सिम कार्ड्स।

पुलिस टीम
1- निरीक्षक देवेन्द्र नबियाल
2- उ0नि0 कुलदीप टम्टा
3- अ0उ0नि0 रकम सिंह
4- कानि0 पवन पुण्डीर

*वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एस0टी0एफ0 उत्तराखण्ड आयुष अग्रवाल* द्वारा जनता से अपील की है कि वे विदेशी नागरिकों द्वारा व्हट्सएप्प का प्रयोग कर किसी भी प्रकार के लोक लुभावने अवसरो/बहुमूल्य गिफ्ट भेजने/पाउण्ड्स भेजने/फर्जी साइट/धनराशि दोगुना करने व टिकट बुक करने वाले अंनजान अवसरो के प्रलोभन में न आयें । किसी भी प्रकार के ऑनलाईन शॉपिंग/पेमैन्ट करने से पूर्व उक्त साईट का पूर्ण वैरीफिकेशन स्थानीय बैंक, सम्बन्धित कम्पनी आदि से भलीं भांति इसकी जांच पड़ताल अवश्य करा लें तथा गूगल से किसी भी कस्टमर केयर नम्बर सर्च न करें। कोई भी शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को सम्पर्क करें । वित्तीय साईबर अपराध घटित होने पर तुरन्त 1930 नम्बर पर सम्पर्क करें । इसके अतिरिक्त गिरफ्तारी के साथ-साथ साईबर पुलिस द्वारा जन जागरुकता हेतु अभियान के अन्तर्गत हैलीसेवा वीडियो साइबर पेज पर प्रेषित किया गया है।