June 12, 2024

एक ही आधार नम्बर में कई सिम एक्टिवेट करने वालो पर अब एसटीएफ़ की नजर

देहरादून

मुख्यमन्त्री के निर्देशे के क्रम में प्रदेश के निवासियों को संगठित अपराधियों द्वारा जनता से ठगी करने वालो पर सख्ती से कार्यवाही किये जाने हेतु पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड  को निर्देशित किया गया था जिस क्रम में *आज दिनाॅक 29.12.2022 को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक,  आयुष अग्रवाल की अध्यक्षता में राज्य की डी0ओ0टी0 फील्ड यूनिट (डिपार्टमेन्ट आफ टेलीकम्युनिकेशन )* के अधिकारियों के साथ राज्य / राष्ट्रीय सुरक्षा के दृृष्टिगत् फर्जी मोबाईल सिम, आधार कार्ड एवं विदेशी सिम के सम्बन्ध में बैठक आहूत की गई। जिसमें पुलिस उपाधीक्षक, श्री अकॅुश मिश्रा, पुलिस उपाधीक्षक, श्री जवाहर लाल, एवं डीओ0टी0 से डीडीजी, डी0ओ0टी0 स्टेट कोर्डिनेशन  अरूण कुमार वर्मा तथा एडीजी, डी0ओ0टी0 विशाल श्रीवास्तव उपस्थित रहे। बैठक में निम्न बिन्दुओं पर विचार विमर्श किया गयाः-

ऽ एक ही आधार नम्बर में कई सिम एक्टिवेट करने वालो के विरूद्व कार्यवाही किया जाना।
ऽ अन्र्तराष्ट्रीय सीमा के निकटतम क्षेत्रों में विदेशे से सिम का विक्रय/ संचालन पर निगरानी एवं ज्ञात होने पर कार्यवाही अपेक्षित है।
ऽ ऐसे सिम विक्रेताओं को चयनित करना जिनकी अपराधियों से साॅठगाठ कर फर्जी आई0डी0 पर सिम विक्रय करने वालो पर कार्यवाही की जायेगी
ऽ ऐसी फर्जी लोन एप्प के विरूद्व कार्यवाही।
ऽ व्यक्तियों को डीएनडी (DND) के सम्बन्ध में जागरूकता के माध्यम सजग करना।
ऽ फर्जी बैंक के नाम से ब्लक में एस0एम0एस0 करने वालो के विरूद्व कार्यवाही की जायेगी एवं ब्लक में एस0एम0एस0 लगाम लगाने हेतु प्रयास किया जायेगा।
ऽ ऐसे सिम विक्रेता जो कि प्रिएक्टिवेडिट सिम को बेचते है, उनके विरूद्व कार्यवाही।

उल्लेखनीय है कि एस0टी0एफ0 द्वारा विगत् दिनो विदेशी नागरिको के बिना किसी दस्तावेज के पैन कार्ड, आधार कार्ड, निर्वाचन आयोग आदि फर्जी दस्तावेज बनाने वाले गैंग को गिरफ्तार किया गया था। साथ ही साथ विगत कुछ महीनो में दो अभियोग फर्जी सिम के प्रकरण में एक मंगलौर हरिद्वार तथा एक अभियोग उधमसिंहनगर में पंजीकृृत कराया गया था।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0 द्वारा डी0ओ0टी0 के अधिकारीगणों के साथ अधिक से अधिक फर्जी नम्बरोॅ / प्रिएक्टिवेटीड करने वाले सिम विक्रताओं पर अकॅुश लगाने हेतु प्रबल कार्यवाही हेतु सहमति बनी।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0 कुछ नवीन सुझाव दिये जिन्हे डी0ओ0टी0 के माध्यम से राष्टीय स्तर पर रखा जायेगा। इसके अतिरिक्त मोबाईल सेवा प्रदात्ता कम्पनियों को भारत सरकार के नियमो का कडाई अनुपालन कराया जायेगा।
विशेषरूप से जनता से अपील की गई कि यदि आपको कोई इस प्रकार से फर्जी सिम विक्रेता या फर्जी सरकारी दस्तावेज बनाने की जानकारी प्राप्त होती है तो स्पेशल टास्क फोर्स कार्यालय में अपनी इच्छानुसार गोपनीय रूप से भिजवा सकता है।
एस0टी0एफ0 फर्जी नम्बरों एवं फर्जी दस्तावेज बनाने वाले गिरोह के विरूद्व कार्यवाही निगरानी रखी जा रही है।