June 24, 2024

किच्छा में दो गैंग्स की आपसी बर्चस्व की जंग, गैंग लीडर की हत्या के लिए आये एक गैंग के 4 शूटरों को एसटीएफ ने भेजा सलाखों के पीछे

किच्छा

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार द्वारा कुछ दिन पहले एसटीएफ को निर्देश दिए थे कि उत्तराखंड के 50 ऐसे अपराधी जो अपराधिक गतिविधियों में लगातार सक्रिय चले आ रहे हैं, की लिस्ट बनाकर, उन पर कड़ी निगरानी रखी जाए* साथ ही साथ ऐसे अपराधियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। इस निर्देश पर *वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल द्वारा STF की सभी यूनिटों को एक कार्य योजना बनाकर निर्देश दिए थे कि सभी अपने स्तर से उत्तराखंड में संगीन अपराधों में सक्रिय कुख्यात और अभ्यस्त अपराधियों की सूची तैयार कर उन पर निगरानी रखते हुए कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित करें।* जिसके अनुपालन में एसटीएफ द्वारा उत्तराखंड में सक्रिय अपराधियों की सूची तैयार की जा रही है, साथ ही ऐसे अपराधियों पर निगरानी रखना भी शुरू कर दिया है। *इसी क्रम में एसटीएफ उत्तराखंड की टीम द्वारा किच्छा क्षेत्र में सक्रिय दो अपराधिक गेंगो की गतिविधियों पर निगरानी रखना शुरू ही किया था कि दिनांक 29–3–22 को एसटीएफ को मिली सूचना पर सीओ एसटीएफ सुमित पाण्डे के नेतृत्व में एसटीएफ की कुमायूँ युनिट व किच्छा कोतवाली पुलिस द्वारा कल देर रात्रि संयुक्त रुप से किच्छा क्षेत्रान्तर्गत हल्द्वानी बाईपास रोड स्थित काली मंदिर के पास एक मकान से चार शूटरों को गिरफ्तार किया गया तथा उनके कब्जे से भारी मात्रा में असलाह व गोला-बारुद बरामद हुआ है।*
एसटीएफ को सूचना मिली थी कि *किच्छा क्षेत्रान्तर्गत काली मंदिर के पास* एक मकान में कुछ अपराधी किस्म के व्यक्ति कई दिनों से रुके हैं जिनके पास कई प्रकार के हथियार हैं और वह किसी बड़ी घटना को घटित करने की फिराख में है, इस सूचना पर *एसटीएफ द्वारा स्थानीय पुलिस से संपर्क कर एक ज्वाइंट ऑपरेशन के तहत उक्त मकान को चारों तरफ से घेर कर मकान की दूसरी मंजिल के एक कमरे में छिपे 04 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। जिनके कब्जे से एक पिस्टल, दो 315 बोर तमंचा, एक 12 बोर तमंचा तथा भारी मात्रा में कारतूस बरामद हुए।*

*गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ* पर उनके द्वारा बताया गया कि वह स्थानीय अपराधी *गगन दीप के लिए काम करते हैं* तथा यहां उसी के कहने पर इकट्ठा हुए थे। गगनदीप द्वारा ही उक्त कमरे को किराए पर लिया गया था अभियुक्त गगनदीप पूर्व में कई बार जेल जा चुका है । *गगनदीप सिंह की अपराध के क्षेत्र में वर्चस्व और व्यापार को लेकर सिमरनजीत सिंह के साथ रंजिश चल रही है। दोनों के द्वारा स्थानीय स्तर पर अपने अपने गैंग बनाए गए हैं। दोनों एक दूसरे को मारने की फिराक में रहते हैं। अभी कुछ दिन पहले सिमरन ने गगनदीप के ऊपर गोली चलाई थी, जिसमे गगनदीप बाल बाल बच गया था, जिससे गगनदीप ने उसे मारने की जिद ठान ली थी। इसी कारण गगनदीप ने उनको यहां किराए के मकान पर रुकवाया था तथा सिमरन को कहीं अकेले में देखकर उसकी हत्या की फिराक में थे*,आज सिमरनजीत आर्शीवाद होटल किच्छा पर आने वाला था। गिरफ्तार 04 अपराधियों द्वारा वहीं पर उसकी हत्या को अंजाम देने का प्लान तैयार किया था। *गिरफ्तार अभियुक्त राहुल श्रीवास्तव पूर्व में कई बार हत्या के प्रयास, रंगदारी आदि में जेल जा चुका है तथा उसके विरुद्ध जनपद नैनीताल, उधम सिंह नगर, दिल्ली कई स्थानों पर दर्जनभर अभियोग पंजीकृत है।* पकड़े गए अभियुक्त राहुल श्रीवास्तव द्वारा बताया कि *चार दिन पूर्व भी सिमरन के मिलने की सूचना थी, इसलिए सभी लोग गगनदीप के साथ उसे मारने गए थे, परंतु सिमरन वहां से ऐन वक्त पर निकल गया था।* इसके अलावा गिरफ्तार अभियुक्त विपिन सिंह के विरुद्ध भी कई थानों में अभियोग पंजीकृत है ।
*विशेष पूछताछ*
एसटीएफ की पूछताछ में यह तथ्य सामने आया कि गिरफ्तार बदमाश, स्थानीय अपराधी सिमरनजीत सिंह की हत्या के लिए आये थे और उन्हें यहाँ गगनदीप सिंह उर्फ रतनपुरिया द्वारा भाड़े पर बुलाया गया था। इनके द्वारा 04 दिन पूर्व भी सिमरनदीप के ठिकाने की रेकी कर उसे मारने की योजना बनाई गई थी, लेकिन उन्हें सफलता नही मिली। गिरफ्तार शूटरों में से एक राहुल श्रीवास्तव का गैंगस्टर पीपी के राइट हैंण्ड भुप्पी बोरा से कनेक्शन सामने आया है। वह भुप्पी बोरा के साथ एक्सटोरशन के केस में जेल जा चुका है।
*एसटीएफ की इस कार्यवाही में आरक्षी गुरवंत सिंह की विशेष भूमिका रही।*

*एसएसपी एसटीएफ आयुष अग्रवाल द्वारा बताया गया कि उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक द्वारा एसटीएफ को उत्तराखंड में अपराधिक गतिविधियों में सक्रिय कुख्यात गैंगस्टर अपराधियों की सूची तैयार कर उन पर निगरानी रखने के निर्देश दिए गए हैं इस क्रम में उत्तराखंड के के प्रत्येक जनपद में सक्रिय कुख्यात अपराधियों की सूची तैयार की जा रही है, साथ ही उन पर निगरानी रखने का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। एसटीएफ को पिछले कई दिनों से किच्छा क्षेत्र में बाहर के अपराधियों के सेल्टर लेने की सूचना मिल रही थी, जिस पर मेरे द्वारा एसटीएफ की कुमाँयू युनिट को तुरन्त कार्यवाही हेतु निर्देश दिये गये थे, जिस क्रम में कल टीम द्वारा किच्छा क्षेत्र में एक किराये के मकान में रेड की गयी और पूरे घर को घेेरकर सर्च ऑपरेशन चलाया गया तो टीम को उस घर से 04 बदमाश और उनके कब्जे से भारी मात्रा में हथियार व गोला-बारुद बरामद हुआ।* एसटीएफ की टीम द्वारा अब गगनदीप की तलाश में जगह जगह छापेमारी की जा रही है।

*गिरफ्तार अभियुक्तगणों का विवरण-*

1.राहुल श्रीवास्तव पुत्र स्व0 हरीश श्रीवास्तव, निवासी सितारगंज बिच्छी चैराहा वार्ड नं0 10, थाना सितारगंज, जनपद उधम सिंह नगर। उम्र 31 वर्ष।
2.विपिन ठाकुर पुत्र हतर सिंह, निवासी आवास विकास, वार्ड नं0 03 किच्छा, थाना किच्छा, जनपद उधम सिंह नगर। उम्र 21 वर्ष।
3.तौशिफ पुत्र शरीफ अहमद, निवासी हाथीबाग, वार्ड नं0 01 किच्छा, थाना किच्छा, जनपद उधम सिंह नगर। उम्र 19 वर्ष।
4.काशिफ पुत्र हफीज प्रधान, निवासी निकट बड़ी मस्जिद वार्ड नं0 14 किच्छा, थाना किच्छा, जनपद उधम सिंह नगर। उम्र 29 वर्ष।

*बरामद माल का विवरण-*
01 पिस्टल, 03 तमंचे व 19 कारतूस।

*अभियुक्त विपिन ठाकुर का आपराधिक इतिहास-

1-मु0अ0सं0 189/2019, धारा 307,34 भा0द0वि0
2-मु0अ0सं0 111/2020, धारा 336 भा0द0वि0
3-मु0अ0सं0 113/2020, धारा 25 शस्त्र अधि0
4-मु0अ0सं0 168/2020, धारा 25 शस्त्र अधि0
5-मु0अ0सं0 62/2022, धारा 504,506,427 भा0द0वि0
6-मु0अ0सं0 227/2022, धारा 197,34,504,506 भा0द0वि0
7-मु0अ0सं0 289/2022, धारा 323,504,506 भा0द0वि0

*अभियुक्त राहुल श्रीवास्तव का आपराधिक इतिहास-*

1-मु0अ0सं0 123/2011, धारा 147,148,323,336,341,427 भादवि व 03 पीडीपीपी एक्ट चालानी थाना सितारगंज, जिला उधम सिंह नगर।
2-मु0अ0सं0 70/2019, धारा 307,120बी,34 भादवि व 25 शस्त्र अधि0, चालानी थाना मुखानी, जिला नैनीताल।
3-मु0अ0सं0 120/2020, धारा 386,504,506 भादवि, चालानी थाना रामनगर, जिला नैनीताल।
4.मु0अ0सं0 104/2023, धारा 452,506 भा0द0वि0, चालानी सितारगंज, जिला उधम सिंह नगर।
5.मु0अ0सं0 126/2011, धारा 307,147,148,323,504,506 भा0द0वि0, चालानी सितारगंज, जिला उधम सिंह नगर।
6.मु0अ0सं0 122/2011, धारा 147,148,332,353,336,341,427,34 भा0द0वि0, व 7 सीआरएलए एक्ट, व 3 पीडीपीपी एक्ट, चालानी सितारगंज, जिला उधम सिंह नगर।
7. वर्ष 2019 में धारा 323,324,504,506 भा0द0वि0, चालानी अजमेरी गेट।
8. वर्ष 2013 में धारा मु0अ0सं0 120/2020, धारा 386,504,506 भा0द0वि0, चालानी थाना रामनगर, जिला नैनीताल।

*गिरफ्तार करने वाली टीमें*
*उत्तराखंड एसटीएफ टीम–*
1-निरीक्षक एम0पी0सिंह
2-उ0नि0 विपिन चन्द्र जोशी
3-उ0नि0 के0जी0मठपाल
4-आरक्षी गुरवन्त सिंह
5-आरक्षी विरेन्द्र सिंह चैहान
6-आरक्षी अमरजीत सिंह
7-आरक्षी नवीन कुमार
8-आरक्षी राजेन्द्र सिंह महरा

कोतवाली किच्छा पुलिस टीम
1.प्रभारी निरीक्षक धीरेन्द्र कुमार
2.वरिष्ठ उ0नि0 गोविन्द सिंह मेहता
3.आरक्षी देवराज सिंह
4.आरक्षी मनोज