June 13, 2024

जी-20 की बैठक को लेकर सभी तैयारियां हुई पूरी,आज शाम पहुंचेंगे डेलीगेट, कुमाऊंनी अंदाज में किया जाएगा विदेशी मेहमानों का स्वागत

रामनगर

G20 समिट की बैठक के लिए देवभूमि का कुमाऊँ गढ़वाल का प्रवेश द्वार रामनगर पूरी तरह तैयार हो चुका है । विदेशी मेहमानों का स्वागत खास उत्तराखंड के कुमाऊंनी अंदाज में किया जाएगा. विदेशी मेहमान खाने में पहाड़ी व्यंजन का स्वाद भी लेंगे. रुद्रपुर और रामनगर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं । उत्तराखंड में आज मंगलवार 28 मार्च से जी 20 समिट की पहली बैठक शुरू होने जा रहे हैं ।जी 20 देशों के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार फ्लाइट से उधमसिंह नगर जिले के पंतनगर एयरपोर्ट पहुंचेंगे । एयरपोर्ट से बाहर निकलते ही सभी विदेशी मेहमानों का उत्तराखंड की कुमाऊंनी संस्कृति में जोरदार स्वागत किया जाएगा । पूरे एयरपोर्ट को उत्तराखंडी संस्कृति के अनुरुप सजाया गया है ।
एयरपोर्ट के स्वागत कक्ष में विदेशी मेहमानों को उत्तराखंड की संस्कृति एपण कला से रूबरू कराया जाएगा । एपण के बीचों बीच मां नंदा सुनंदा के चित्र के साथ-साथ कुमाऊं के छोलिया नृत्य की झलक देखने को मिलेगी. इनता ही नहीं कलाकारों ने चावलों से जी 20 को लोगो भी बनाया है । स्वागत कक्ष से बाहर निकलते ही मेहमानों को 20 देशों के राष्ट्रीय ध्वज दिखाई देंगे । एयरपोर्ट के स्वागत के बाद विदेशी मेहमानों को लग्जरी छोटी बसों से रुद्रपुर के होटल रेडिशन ब्लू ले जाया जाएगा । होटल रेडिशन ब्लू में विदेशी मेहमानों के लंच की व्यवस्था की गई है. यहां मेहमानों को विदेशी डिश के साथ-साथ उत्तराखंड के व्यंजन भी परोसे जाएंगे, जिसमें मुटवे की रोटी और भांग की चटनी भी शामिल है. रुद्रपुर के रेडिशन ब्लू होटल में चाय पानी करने के बाद मेहमानों का काफिला रामनगर के लिए रवाना होगा । बता दें कि मेहमानों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उधमसिंह नगर और नैनीताल जिले में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं. सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद किया गया हैं. खालिस्थानी समर्थकों से मिली धमकी के बाद पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों पहले से चौकन्नी हो गई है. पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों सोमवार शाम को कार्यक्रम स्थल पर मॉक ड्रिल भी किया गया है. गौरतलब हो कि नैनीताल जिले के रामनगर में जी 20 समिट 28 से 30 मार्च के बीच होनी है ।