June 18, 2024

प्रसव पूर्व भूर्ण का लिंग उजागर करने वाले अल्ट्रासाउण्ड केन्द्र तथा जांच कराने वाले हो जाये सावधान, जिलाधिकारी ने ऐसे केंद्रों की सूचना देने वालो को 50 हजार के पुरस्कार देने की घोषणा की

देहरादून

जिलाधिकारी/जिला समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी श्रीमती सोनिका की अध्यक्षता में ऋषिपर्णा सभागार कलेक्टेªट में पीसीपीएनडीटी- जिला सलाहकार समिति की बैठक आयोजित की गई। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रसव पूर्व भूर्ण का लिंग उजागर करने वाले अल्ट्रासाउण्ड केन्द्र तथा जांच कराने वाले लोगों का प्रमाण सहित सूचना देने वालों को 50 हजार का ईनाम दिया जाएगा तथा उनकी पहचान गोपनीय रखी जाएगी। इसकी सूचना आपदा कन्ट्रोलरूम के नम्बर 01352626066 पर देने को कहा। उन्होंने समिति के सदस्यों को निरन्तर छापेमारी अभियान चलाने के कड़े निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि जनपद में संचालित अल्ट्रासाउण्ड केन्द्र का नियमित निरीक्षण के साथ ही समय-समय पर औचक निरीक्षण किया जाए। उन्होंने निर्देशित किया कि आशा कार्यकर्तियों के माध्यम से क्षेत्र में गर्भधात्री महिलाओं की का विवरण के साथ प्रसव के उपरान्त आंकड़े आशा पोर्टल पर अद्यतन करने के निर्देश दिए। साथ ही निर्देशित किया कि जो प्रसव घर पर हो रहे हैं उनके अद्यतन आंकड़े एकत्रित कर आशा पोर्टल में दर्ज करेंगे। उन्होंने निर्देशित किया कि गर्भाधान पूर्व एवं प्रसव पूर्व निधान तकनीक का दुरूपयोग न हो इसके लिए समिति अपने स्तर पर भी गोपनीय सूचना एकित्रत करें तथा यदि कोई नियमों का उल्लंघन करते हुए पाया जाता है तो उसे विरूद्ध अधिनियम के अन्तर्गत सख्त कार्यवाही की जाए। समिति द्वारा 4 केन्द्रो का नवीनीकरण, तीन नये केन्द्रो का पंजीकरण, 19 केन्द्रों पर स्थापित नई अल्ट्रासाउण्ड मशीन एवं सीटी स्कैप मशीन का पंजीकरण (फार्म बी) में दर्ज आवेदन पर निर्णय तथा 05 केन्द्रों पर अल्ट्रासाउण्ड मशीन को निष्प्रोज्य करने का निर्णय समिति द्वारा लिया गया।
बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ संजय जैन, प्रमुख परामर्शदाता रेडियोलाॅजिस्ट डाॅ मनोज उप्रेती, डाॅ शालिनी डिमरी, संयुक्त निदेशक विधि जी.सी पंचैली, जिला शासकीय अधिवक्ता जे.पी रतूड़ी, डाॅ0 नीतू तोमर, डाॅ ममता बहुगुणा, समाज सेवी संस्था से सुश्री अर्चना ग्वाड़ी एवं श्रीमती अमिता भण्डारी गुंसाई सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं कार्मिक उपस्थित रहे।