June 18, 2024

पेपर लीक मामला: UKPSC के अनुभाग अधिकारी समेत 5 गिरफ्तार, पत्नी भी शामिल, अब तक 41 लाख 50 हजार रुपए बरामद, अब 12 फरवरी को होगी पटवारी-लेखपाल लिखित परीक्षा

आयुष अग्रवाल,एसएसपी,एसटीएफ़

देहरादून

UKPSC Patwari Paper Leak 2023: उत्तराखंड के बेरोजगार युवाओं के साथ परीक्षा के नाम पर लगातार छलावा हो रहा है। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) की भर्ती परीक्षा में पेपर लीक मामले के बाद उत्तराखंड लोक सेवा आयोग (UKPSC) को पारदर्शी तरीके से एग्जाम कराने के लिए भर्तियों का जिम्मा दिया गया, लेकिन यहां भी अब हाल ही में हुई पटवारी, लेखपाल भर्ती परीक्षा का प्रश्न पत्र भी एग्जाम से पहले ही लीक हो गया।

एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल ने बताया कि, उत्तराखंड स्पेशल टास्क फोर्स को गोपनीय सूचना मिली कि, कुछ व्यक्तियों ने लोक सेवा आयोग (UKPSC) द्वारा 08 जनवरी 2023 को आयोजित लेखपाल/पटवारी परीक्षा का प्रश्न पत्र एग्जाम से पहले ही लीक कर कई अभ्यर्थियों को उपलब्ध कराया गया था। इस सूचना पर विस्तृत जांच की गई और जांच में आरोपो की पुष्टि हुई। इसके बाद 12 जनवरी को हरिद्वार जिले के थाना कनखल में मु0अ0स0 12/23 धारा 409,420,467,468,471,120बी भा0द0वि0 व 3/4 उत्तर प्रदेश/उत्तराखण्ड सार्वजनिक परीक्षा (अनुचित साधनों की रोकथाम) निवारण अधिनियम 1998 पंजीकृृत कराया गया। इसकी विवेचना में कार्यवाही करते हुये एसटीएफ ने 05 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है।

UK Patwari Paper Leak: गिरफ्तार अभियुक्त

1. संजीव चतुर्वेदी, अनुभाग अधिकारी, अतिगोपन अनुभाग-3, राज्य लोक सेवा आयोग, उत्तराखण्ड, जनपद हरिद्वार।

2. राजपाल पुत्र स्व. फूल सिंह, निवासी ग्राम कुलचन्दपुर उर्फ नथौडी थाना गागलहेडी, जनपद सहारनपुर उ0प्र0 हाल निवासी ग्राम सुकरासा अम्बूवाला थाना पथरी जनपद हरिद्वार।

3. संजीव कुमार पुत्र स्व. मांगेराम, निवासी ग्राम कुलचन्दपुर उर्फ नथौडी थाना गागलहेडी सहारनपुर उ0प्र0 हाल निवासी फ्लैट नं0 जी-407 जर्स कन्ट्री ज्वालापुर थाना ज्वालापुर जनपद हरिद्वार।

4. रामकुमार पुत्र सुग्गन सिंह नि0 ग्राम सेठपुर, लक्सर, जनपद हरिद्वार।

पांचवीं गिरफ्तारी के रूप में अनुभाग अधिकारी की पत्नी भी गिरफ्तार

इन चारों की गिरफ्तारी के बाद एसटीएफ टीम ने गिरफ्तार UKPSC के अनुभाग अधिकारी संजीव चतुर्वेदी की पत्नी रितु को उसके आवास लोक सेवा आयोग के आवासीय परिसर से गिरफ्तार किया।

UKPSC Patwari Lekhpal Paper Leak: अपराध का तरीका

उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग द्वारा विगत 08 जनवरी को आयोजित पटवारी, लेखपाल की परीक्षा के प्रश्न पत्र तैयार करने में आयोग के अति गोपन कार्यालय के अनुभाग-3 द्वारा कार्य किया गया था। उक्त अनुभाग में नियुक्त अनुभाग अधिकारी संजीव चर्तुवेदी ने अपने कार्यालय से स्वयं की अभिरक्षा से प्रश्न पत्र लीक किया। उसने अपनी पत्नी ऋतु के साथ मिलकर लीक प्रश्न पत्र राजपाल व संजीव को उपलब्ध कराया। इसके एवज में संजीव चर्तुवेदी व रितु को नगद धनराशि देकर, उक्त प्रश्न पत्र संजीव तथा राजपाल ने रामकुमार व अन्य के माध्यम से अभ्यर्थियों में बांट कर उनको उ0प्र0 बिहारीगढ के पास स्थित माया अरूण रिजार्ट और ग्राम सेठपुर लक्सर हरिद्वार व अन्य स्थानों में पढाया।

35 अभ्यार्थियों के पास परीक्षा से पहले पहुंचा प्रश्न पत्र

विवेचना में अब तक लगभग 35 अभ्यार्थियों द्वारा परीक्षा से पूर्व प्रश्न पत्र प्राप्त होना संज्ञान में आया है। विवेचना जारी है। अन्य अभियुक्तो और उनके द्वारा अवैध रूप से अर्जीत धनराशि के सम्बन्ध में भी कार्यवाही की जा रही है।

एसएसपी एसटीएफ ने जनता से की ये अपील

एसटीएफ एसएसपी आयुष अग्रवाल ने आम जनता से अपील की है कि, यदि उक्त परीक्षा की अनियमितता सम्बन्ध में कोई भी जानकारी हो तो स्वयं या मोबाईल के द्वारा सूचना दे सकता है, जिनकी पहचान गोपनीय रखी जायेगी।

अब तक 41 लाख 50 हजार रुपए बरामद

एसटीएफ ने आउट प्रश्न पत्र की प्रतियां और प्रश्न पत्र लीक कर अवैध रूप से कमाये गये 41 लाख 50 हजार रुपए बरामद किए हैं। साथ ही पूर्व में गिरफ्तार अन्य अभियुक्तों की निशानदेही पर लाखो की नकदी के साथ बैंक के ब्लैंक चैक व अभ्यार्थियों के शैक्षिक दस्तावेज बरामद किये गये। फिलहाल जांच में अभियुक्तों से पूछताछ कर तथ्यों और साक्ष्यों का सकंलन व अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं।

अभियुक्त राजपाल से 10 लाख नकद, अभ्यार्थियों के दस्तावेज व परीक्षा के प्रश्नो की प्रति बरामद हुई। संजीव से 08 लाख, अभ्यार्थियों के दस्तावेज, चैक व परीक्षा के प्रश्नो की प्रति मिली। रामकुमार से 01 लाख रूपये, परीक्षा के प्रश्नो की प्रति बरामद की गई।

ये रहे पटवारी – लेखपाल पेपर लीक पर्दाफाश के हीरो

कार्यवाही करने वाली टीम में अपर पुलिस अधीक्षक, चन्द्रमोहन सिंह, पुलिस उपाधीक्षक नरेन्द्र पन्त, नि0 प्रदीप राणा, नि0 यशपाल बिष्ट, उ0नि0 उमेश कुमार, उ0नि0 नरोत्तम बिष्ट, उ0नि0 धमेन्द्र रौतेला, उ0नि0 याजवेन्द्र बाजवा, उ0नि0 दिलबर नेगी, का0 कादर खान और समस्त एसटीएफ टीम शामिल रही।

अब फिर से 12 फरवरी 2023 को होगी पटवारी – लेखपाल लिखित परीक्षा

वहीं पटवारी-लेखपाल पेपर लीक मामले के बाद उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने राजस्व उप निरीक्षक (पटवारी / लेखपाल) परीक्षा-2022 निरस्त कर दी है। यह परीक्षा अब फिर से 12 फरवरी, 2023 को आयोजित की जायेगी।

ऐसे में लगातार भ्रष्ट तंत्र से प्रदेश के बेरोजगार युवाओं की उम्मीदें टूट रही हैं। मेहनती छात्र लगातार प्रयास के बावजूद खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं, साथ ही उन्हें बेरोजगारी के चलते मानसिक तनाव भी सहना पड़ रहा है। हालांकि पेपर लीक के बीच जांच एजेंसियों ने सराहनीय कार्य किया है। पेपर लीक के लगातार बढ़ते मामलों के बीच एसटीएफ लगातार नकल माफियाओं के इरादों पर पानी फेरने का काम कर रही है।

एसटीएफ ने बताया कि, पूर्व में यूकेएसएससी द्वारा आयोजित परीक्षाओ में बडे पैमाने पर अनियमितता पाये जाने पर मुख्यमन्त्री द्वारा परीक्षा लीक करने वाले माफियों के विरूद्व जीरो टोलरेन्स की नीति अपनाये जाने के लिए निर्देशित किया गया था। यूकेपीएससी चेयरमैन द्वारा भी पुलिस महानिदेशक को लोक सेवा आयोग द्वारा कराई जा रही परीक्षाओ मेे सतर्क दृष्टि रखे जाने के लिए अनुरोध किया गया था। इसी क्रम में पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने उत्तराखण्ड में आयोजित समस्त परीक्षाओं पर कडी निगरानी रखने के लिए एसटीएफ उत्तराखण्ड को निर्देशित किया गया था। एसटीएफ द्वारा उक्त निर्देशो के क्रम में परीक्षा सम्बन्धी प्रत्येक सूचना को गम्भीरता से लेकर कार्यवाही की जा रही है।