June 18, 2024

महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा हेतु महिला पुलिसकर्मियों को दिया गया आत्मरक्षा प्रशिक्षण

देहरादून

अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड द्वारा आज दिनांक 22 फरवरी, 2023 को पुलिस लाइन देहरादून में गौरा शक्ति के अंतर्गत महिला पुलिसकर्मियों को दिये जा रहे आत्मरक्षा प्रशिक्षण के समापन कार्यक्रम में प्रतिभाग किया गया।

महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा हेतु उत्तराखण्ड पुलिस की थाना स्तर पर गठित टीम गौरा की 35 महिला पुलिस कर्मियों को Self Defence Master Training Programme के अन्तर्गत पुलिस लाईन देहरादून में दिनांक 20 फरवरी से दिनांक 22 फरवरी 2023 तक आत्मरक्षा तकनीक का प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इसके अन्तर्गत महिला पुलिस कर्मियों को रोजमर्रा की वस्तओं जैसे पेन, मोबाइल, रूमाल, दुपट्टा, चूड़ी आदि को हथियार बनाकर आत्मरक्षा करने एवं Smart Self Defence के अन्तर्गत स्मार्ट स्किल से आत्मरक्षा करने हेतु प्रशिक्षित किया गया।

प्रशिक्षित पुलिस कर्मियों द्वारा अपने-अपने जनपदों में गौरा टीम में नियुक्त अन्य महिला कर्मियों के साथ-साथ स्कूल/कालेज/ग्राम/मौहल्लों में जाकर महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।

अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड ने कहा कि मिशन गौरा शक्ति केवल एक पुलिस एप्प नहीं अपितु उत्तराखण्ड पुलिस एप्प का हिस्सा है। मिशन गौरा शक्ति के अन्तर्गत विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाना है, जिसमें महिलाओं को आत्मरक्षा की ट्रैनिंग देना, प्राप्त शिकायतें का समय से निस्तारण किया जाना, स्कूल/कालेजों में जाते वक्त जिन क्षेत्रों में महिलाओं/लडकियों के साथ छेडछाड होती है, उन क्षेत्रों में फोकस करना, वहां पैट्रोलिंग बढाना ये सब इस मिशन के पार्ट है।

उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड पुलिस के जूडो, कराटे, बांक्सिग, ताइक्वोंडो के खिलाड़ियों को भी इस प्रशिक्षण से जोड़ा जाएगा। साथ ही महिला पुलिस कर्मियों हेतु आत्मरक्षा प्रशिक्षण का सेकंड लेवल एडवांस कोर्स का आयोजन किया जाएगा। आत्मरक्षा कोर्स में प्रतिभाग करने वाली महिला पुलिसकर्मी आत्मविश्वास से भरपूर है, परन्तु जब हमें दूसरे लोगों को प्रशिक्षण देना होता है, तो हमें एक लेवल उपर होना पडेगा। इसके लिए आत्मरक्षा प्रशिक्षण का सेकंड लेवल एडवांस कोर्स जल्द ही आयोजित किया जायेगा। इस प्रकार प्रशिक्षण प्राप्त करने के उपरान्त जनपदवार ट्रैनर्स का निर्धारण कर लिया जाये । जिससे कि एक जनपद में कम से कम 5-6 ट्रेनर्स प्रशिक्षण हेतु उपलब्ध हो। स्कूल एवं कालेजों में भी आत्मरक्षा हेतु ऐसे प्रशिक्षण शिवरों का आयोजन किया जाएगा।

इस अवसर पर अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था- वी मुरूगेशन, पुलिस उप महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था- सुश्री पी0 रेणुका देवी, पुलिस उपमहानिरीक्षक, गढ़वाल परिक्षेत्र- करन सिंह नगन्याल, पुलिस उप महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, देहरादून दलीप सिंह कुँवर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।