June 14, 2024

महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने विभागीय अधिकारियों की ली बैठक,दिये अहम दिशा निर्देश, आँगनवाड़ी बहनों की समस्याओं का जल्द करें निस्तारण, आंगनवाड़ी विभाग की रीढ़:-रेखा आर्या

देहरादून

आज यमुना कॉलोनी स्थित शासकीय आवास पर महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने विभागीय अधिकारियों के साथ बाल विकास विभाग की बैठक ली।बैठक में महिला सशक्तिकरण विभाग के अभी तक के कार्यो की प्रगति रिपोर्ट के साथ ही आगामी योजनाओं के बारे में मंत्री रेखा आर्या ने जानकारी ली।बैठक में आंगनबाड़ी बहनों के मानदेय, मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रो को पूर्ण करने,भवन किराया, मोबाइल रिचार्ज, समिति में टेक होम राशन योजना की राशि सहित विभिन्न विषयों के सम्बन्ध में भी चर्चा की गई। वही बैठक में कैबिनेट मंत्री ने कहा कि जो मोबाइल फोन खराब हो चुके हैं उनके लिए विभाग द्वारा मोबाइल फोनो की मांग भारत सरकार से की गई है जी की जल्द ही उपलब्ध हो जाएंगे। साथ ही 2254 मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रो को उच्चीकरण करने हेतु भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है इनके उच्चीकरण होने से आंगनबाड़ी बहनो को कार्य करने में कोई परेशानी नहीं आएगी।

मंत्री रेखा आर्या ने स्वयं सहायता समूहों द्वारा टेक होम राशन में बरती जा रही लापरवाही को गंभीरता से लेते हुए ऐसे समूहों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध जाँच के आदेश भी अधिकारियो को दिए। कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने इस दौरान बताया कि पूर्व में विभाग द्वारा लड़की के जन्म पर महालक्ष्मी किट दी जाती थी जो कि अब लड़के के जन्म पर भी दी जाएगी।उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा इसका प्रस्ताव बना दिया गया है जल्द ही कैबिनेट में लाया जायेगा।

वही मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि आंगनबाड़ी बहनों के लिए विभाग द्वारा उनकी सेवानिवृत्ति होने पर 50 हजार की धनराशि दिए जाने का प्रस्ताव बनाया गया है जिसके लिए विभाग को निर्देशित किया गया है कि सभी बिंदुओं पर परिचर्चा करते हुए जल्द ही इसका प्रस्ताव कैबिनेट में लाया जाए कहा कि इस योजना के बन जाने से हमारी आंगनबाड़ी बहनों को भविष्य के लिए काफी लाभ मिलेगा।

इस दौरान विभागीय मंत्री ने एकल महिला को मिलने वाले ऋण के बारे में भी अधिकारियों से चर्चा की ,साथ ही गत दिवस सेनेटरी पेड नेपकिन वेंडिंग मशीन को लेकर भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए।कहा कि विभाग की यह कोशिश है कि सभी सार्वजनिक स्थानों पर मशीनों को लगाया जाएगा ताकि बालिकाओ को इसका लाभ प्राप्त हो सके।

इस अवसर पर सचिव हरि चंद्र सेमवाल , उपनिदेशक विक्रम सिंह, डीपीओ मोहित चौधरी, राज्य नोडल अधिकारी आरती बलोदी, CDPO तरुणा चमोला उपस्थित रहे।